National Institute of Plant Genome Research
Digital India     
 
संक्षिप्त अवलोकन
प्रोटिओमिक्स विभिन्न जैविक प्रक्रियाओं में शामिल प्रोटीन के अध्ययन का एक बहुत शक्तिशाली और आशाजनक दृष्टिकोण है| जीनोमिक अनुक्रम जानकारी की बढ़ती उपलब्धता के साथ साथ नई विश्लेषणात्मक तकनीकों से यह संभव हो सका है कि एक निश्चित अवस्था के तहत व्यक्त कोशिका या ऊतक में समानांतर कई प्रोटीन को योजनाबद्ध तरीके से विश्लेषित किया जा सके| राष्ट्रीय पादप जीनोम अनुसंधान संस्थान में प्रोटिओमिक्स सुविधा मास स्पेक्ट्रोमेट्री को प्रोटीन के गुणात्मक निरूपण के लिए महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी के रूप में का उपयोग करता है| यह सुविधा, भारत सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा वित्त पोषित है| यह सुविधा प्रोटिओमिक्स अनुसंधान गतिविधियों को सुविधाजनक और समन्वित बनाने के उद्देश्य से वर्ष 2007 में शुरू की गयी थी| सुविधा में प्रोटिओमिक्स गतिविधियों के सम्पादन के लिए अनेक उपकरण तथा अनुभव उपलब्ध हैं| सुविधा की सेवा आंतरिक और बाह्य उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है|
गतिविधियां
इस सुविधा की गतिविधियां मुख्य रूप से प्रोटीन की पहचान पर केंद्रित हैं:-
प्रोटीन के नमूने एसडीएस-पेज जेल बैंड और एम एस-अनुकूल डाई के साथ सना हुआ या घोल के रूप में भेजे जाते हैं, यह ट्रीपटिक पाचन और पेप्टाइड्स मानक प्रोटोकॉल के अनुसार निकाले जाते है| पेप्टाइड्स का विश्लेषण इलेक्ट्रोस्प्रे आयनीकरण टाइम-ऑफ़-फ्लाईट मास स्पेक्ट्रोमीटर (एल सी /एम एस /टी ओ एफ) युग्मित ऑनलाइन के साथ टेंपो नैनो एम डी एल सी अथवा एम ए एल डी आई -टी ओ एफ-टी ओ एफ द्वारा किया जाता है| पेप्टाइड्स की पहचान विश्लेषक द्वारा उत्पन्न खोज की पीक सूची के द्वारा या 4000 श्रृंखला एक्सप्लोरर सॉफ्टवेयर अगेंस्ट दा मस्कोट (http://www.matrixscience.com) खोज इंजन जीपीएस एक्सप्लोरर का उपयोग या प्रोटीन पायलट सॉफ्टवेयर का उपयोग कर किया जाता है|
उपकरण
अप्लाइड बायो-सिस्टम / एमडीएस एस सी आई ई एक्स
क्यु एस टी ए आर एलीट4800 एमएएलडीआई-टीओएफ-टीओएफ4000Q टीआरएपी एलसी /एमएस/ एमएस
नमूना प्रस्तुत फार्म